Income Tax Kaise Bhare – आयकर रिटर्न 2021-22 कैसे भरें?

नमस्कार दोस्तो कैसे है आप सब उम्मीद करते है आप सब लोग मजे में होंगे। दोस्तो आज इस आर्टिकल में “आयकर रिटर्न 2021-22 कैसे भरें? – Income Tax Kaise Bhare?” के बारे में पूरी जानकारी हासिल करेंगे।

क्या आप जानते हैं आयकर न देने पर व्यक्ति को भारी जुर्माना और यहां तक कि कई अन्य आर्थिक नुकसान झेलने पड़ सकते हैं? जी हां, इसलिए भारतीय सरकार हमेशा आयकर की श्रेणी में आने वाले नागरिकों को आयकर भरने की सूचना देती है।

अगर व्यक्ति समय पर आय कर (income tax ) देना भूल जाता है या नहीं देगा तो ऐसी स्थिति में आयकर विभाग द्वारा नोटिस दिया जाता है, और स्थिति बिगड़ने पर आप से जबरन पैसा वसूला जा सकता है।

यदि आप आयकर भरकर देश के विकास में योगदान और एक ईमानदार नागरिक का फर्ज अदा करना चाहते हैं। इसलिए आयकर रिटर्न कैसे भरें? जानना चाह रहे हैं तो यहां आपको इसकी पूरी प्रक्रिया दी गई है अतः लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। “Income tax kaise bhare?

आइटीआर रिटर्न को कितने तरह से भरा जा सकता है?

हर साल व्यक्ति को अपने सालाना इनकम पर सरकार को टैक्स भरना पड़ता है। अपने सभी इनकम पर टैक्स निकालकर सरकार को टैक्स देने की इस प्रक्रिया को आयकर रिटर्न कहते हैं।

आयकर रिटर्न को कोई भी व्यक्ति 3 तरीके से भर सकता है –

  • ऑनलाइन
  • ऑफलाइन
  • आयकर रिटर्न फाइल करने वाले सॉफ्टवेयर

1. ऑनलाइन तरीके के अंतर्गत लोग अपनी कंप्यूटर से E-filing पोर्टल पर लॉगिन करके आसानी से अपना आयकर रिटर्न सबमिट किया जा सकता है। लेकिन ऑनलाइन टैक्स भरने पर आप केवल आईटीआर-1 और आईटीआर-4 ही भर सकते हैं।

2. अगर आप ऑफलाइन आयकर रिटर्न भरना चाहते हैं तो आप आइटीआर फॉर्म को ऑनलाइन प्रिंट करके और फिर उसे भरकर जमा कर सकते हैं।

3. आयकर रिटर्न फाइल करने के लिए कई सारे सॉफ्टवेयर भी होते हैं तो आप इन सॉफ्टवेयर की मदद से आयकर रिटर्न जमा कर सकते हैं।

इन सभी तरीकों में ऑनलाइन तरीके से आयकर रिटर्न भरना काफी आसान होता है। इसलिए नीचे हमने आपको इसी तरीके से आयकर रिटर्न भरने की पूरी जानकारी दी है।

आयकर रिटर्न 2021-22 कैसे भरें?

अगर आप ऑनलाइन ITR – 1 और ITR – 4 भरना चाहते हैं। तो आप नीचे बताए गए तरीके को फॉलो करके आसानी से आयकर रिटर्न भर सकते हैं। आयकर रिटर्न आपके सालाना salary, house property income, profit, capital gains और other sources पर भरा जाता है।

आयकर रिटर्न फाइल करने के लिए सबसे पहले E-filing की ऑफिशियल वेबसाइट यानी पर जाना होगा।

वेबसाइट पर जाने के बाद आपको सबसे पहले वेबसाइट पर लॉग इन करना होगा और फिर साइड में दिखाई दे रहे मेनू ऑप्शन पर क्लिक करके आयकर रिटर्न के ऑप्शन पर जाना होगा।

जैसे कि आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे वैसे ही आपके सामने कुछ नए ऑप्शन (Assessment year, ITR form number, filling type, submission mode) चुनने के लिए कहा जाएगा।

ऊपर बताए सभी ऑप्शन को चुनने के बाद Applicable और Mandatory fields को भी भर दीजिए।

Note – अगर आप नहीं चाहते कि आपको किसी भी तरह का डाटा लॉस हो तो आप फॉर्म भरते समय फॉर्मेशन को save करके draft में भी रखते रहिए।

उसके बाद आपको “Taxes Paid and Verification” Tab में verification ऑप्शन चुनना होगा।

  • I would like to e-Verify
  • I would like to e-Verify later within 120 days from date of Filing
  • I don’t want to e-Verify

आप ने तीन ऑप्शन में से कुछ भी चुन सकते हैं।

आइटीआर फॉर्म में सभी डाटा डालने के बाद आप पूरी फॉर्म को एक बार प्रीव्यू कीजिए और सबमिट बटन पर क्लिक करके आइटीआर जमा कर दीजिए।

आइटीआर सबमिट करने के बाद आपको आईटीआर का ई-वेरिफिकेशन करना होगा।

आइटीआर वेरीफिकेशन करने के लिए आपको खाली जगह पर आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर आए OTP को डाल दीजिए। आपके मोबाइल पर ओटीपी तब आएगा जब I would like to e-Verify के विकल्प को चुनेंगे।

ध्यान रहे आपको ई वेरीफिकेशन केवल 60 सेकेंड के अंदर करना होगा वरना आपको यह प्रोसेस फिर से करना होगा।

रिटर्न भरने के लिए क्या क्या चाहिए?

आइटीआर रिटर्न या फिर आयकर रिटर्न भरने के लिए आपके पास कुछ डाक्यूमेंट्स का होना बहुत जरूरी है। आप इन डाक्यूमेंट्स के बिना रिटर्न फॉर्म नहीं भर सकते हैं।

  • पैन कार्ड या पैन कार्ड का नंबर
  • आधार कार्ड
  • फॉर्म 16
  • फॉर्म 26AS
  • टैक्स सेविंग प्रूफ
  • होम लोन के दस्तावेज
  • सैलरी की रसीद
  • बैंक / पोस्ट ऑफिस से मिला इंट्रस्ट सर्टिफिकेट।

अगर आपके पास यह सभी डाक्यूमेंट्स है तो आप आसानी से अपना आयकर रिटर्न भर सकते हैं।

FAQ

आयकर रिटर्न की लास्ट डेट क्या है?

CBDT के द्वारा जारी किए गए जानकारी के अनुसार यह जानने को मिला है कि Assessment year 2021-22 और previous year 2020-21 के लिए टैक्स पेयर 30 सितंबर तक आयकर रिटर्न भर सकते हैं।

CBDT ने यह भी घोषणा की है कि Rule-139 के Sub rule 1 के अनुसार‌ करदाता को 31 जुलाई तक सभी को आयकर रिटर्न भरना होगा।

ITR कौन भर सकता है?

भारत में रहने वाला हर व्यक्ति जो भारत में काम करते पैसे कमाता है। किसी भी इनकम सोर्स के जरिए पैसे कमाता है। वह सरकार को टैक्स भरने के लिए आइटीआर फॉर्म भर सकता है।

Source of income से तात्पर्य है salary, house property income, business income, capital games और other sources.

नया टैक्स स्लैब क्या है?

टैक्स स्लैब के अनुसार एक व्यक्ति के इनकम पर टैक्स कैलकुलेट किया जाता है। पिछले वर्ष 2020 में भारतीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने टैक्स स्लैब को चेंज कर दिया था। नए टैक्स स्लैब के अनुसार टैक्स कुछ इस तरह से कैलकुलेट किया जाएगा।

नए टैक्स लाभ के अनुसार अगर किसी व्यक्ति की इनकम Rs 2.5 लाख तक है तो उसे टैक्स नहीं देना होगा।

Rs 2.5 लाख से Rs 5.00 लाख रुपए कमाने वाले लोगों को 5% (tax rebate u/s 87a is available) तक टैक्स भरना होगा।

Rs. 5.00 लाख से Rs 7.5 लाख कमाने वाले लोगों के इनकम पर 10% टैक्स लगाया जाएगा।

जिन लोगों की इनकम Rs 7.5 लाख से Rs 10.00 लाख रुपए के आसपास है उन्हें अपने इनकम पर 15% टैक्स देना होगा।

Rs 10.00 लाख से Rs. 12.50 लाख कमाने वाले लोगों के इनकम पर 20% टैक्स लगाया जाएगा।

वे लोग जिनकी इनकम Rs. 12.5 लाख से Rs. 15.00 लाख के आसपास है उनके इनकम पर 25% टैक्स लगेगा।

वे लोग जिनके इनकम Rs. 15 लाख से ज्यादा है।उनके इनकम पर 30% टैक्स लगाया जाएगा।

इनकम टैक्स में कितने रुपए तक छूट है?

हर करदाता अपने इनकम पर सरकार को टैक्स देता है उसे पूरे टैक्स पर कुछ रुपए की छूट मिलती है इस छूट को रिबेट कहा जाता है। इनकम पर टैक्स कैलकुलेट करते समय रिबेट को घटा दिया जाता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नए टैक्स स्लैब के अनुसार भी करदाताओं को ₹12500 की छूट दी जाएगी। पुराने टैक्स स्लैब के अनुसार वे लोग जिनकी इनकम ₹2,50,000 से कम थी उन्हें टैक्स देने की जरूरत नहीं होती थी। लेकिन नए टैक्स स्लैब के अनुसार वे लोग जिनकी इनकम ₹500000 से कम है। उन्हें अपने इनकम पर टैक्स देने की कोई जरूरत नहीं है।

Conclusion

तो साथियों इस पोस्ट को पढ़कर आयकर कैसे भरें? “Income Tax Kaise Bhare?” अब आप भली-भांति जान चुके हैं। अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई है तो इसे अधिक से अधिक सोशल मीडिया पर साझा करें।

Leave a Comment